New Era of Services in Himachal Pradesh

New Era of Services in Himachal Pradesh More »

New Era of Services in Himachal Pradesh

New Era of Services in Himachal Pradesh More »

New Era of Services in Himachal Pradesh

New Era of Services in Himachal Pradesh More »

New Era of Services in Himachal Pradesh

New Era of Services in Himachal Pradesh More »

 

चुनाव: वोटरों को लुभाने आज से मैदान में उतरेंगे प्रत्याशी, चुनाव चिह्न हुए आवंटित

गुरुग्राम
congress, bjp, bsp, aam aadmi party
राज्य विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्र भरने, उनकी जांच एवं उन्हें वापस लेने की प्रक्रिया पूरी हो गई है। गुरुग्राम जिला के चारों विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी ने निर्दलीय एवं अन्य उम्मीदवारों को चुनाव चिह्न आवंटित कर दिए हैं। अब प्रत्याशी अपने चुनाव चिह्न के साथ प्रचार कर सकेंगे। हालांकि राजनीतिक दलों के उम्मीदवार नामांकन पत्र दाखिल करने के दिन से ही प्रचार करने में जुटे हुए हैं, लेकिन अब सभी उम्मीदवार मंगलवार से जोर शोर से चुनाव प्रचार कर सकेंगे।

जिला के चारों विधानसभा क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारी के अनुसार मंगलवार से समस्त उम्मीदवार अधिकारिक तौर पर चुनाव प्रचार शुरू करेंगे। वह गाड़ियों पर लाउड स्पीकर लगाकर प्रचार कर सकेंगे। इसके अलावा होर्डिंग आदि भी लगा सकेंगे। इसके लिए उम्मीदवारों को स्वीकृति लेनी होगी। वहीं राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों ने सोमवार की शाम ही चुनाव प्रचार के गाड़ियों और उन पर लाउड स्पीकर लगाने की इजाजत के लिए आवेदन कर दिया। हालांकि रिटर्निंग अधिकारी उन्हें मंगलवार को स्वीकृति देंगे।

चुनाव आयोग के नियमों के अनुसार चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार उन्हीं वाहनों में चल सकेंगे जिन्हें रिटर्निंग अधिकारी से स्वीकृति मिली हुई है। दूसरे वाहनों से चलने की स्थिति में उन्हें रोक दिया जाएगा। वहीं रिटर्निंग अधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को चुनाव प्रचार पर नजर रखने और आचार संहिता का उल्लंघन रोकने के लिए अपने कार्यालयों से बाहर निकलने के आदेश जारी कर दिए।

चार सीटों पर 85 में से रह गए 54 प्रत्याशी

उधर नामांकन पत्र वापस लेने का समय समाप्त होने के बाद गुरुग्राम जिला के चारों विधानसभा में अब 54 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। क्षेत्र में नामांकन भरने की अंतिम तिथि चार अक्तूबर 85 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किए थे। इनमें से नामांकन पत्रों की छंटनी के दौरान 10 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र रद्द हो गए थे और 21 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र वापस ले लिए थे। नामांकन वापसी के अंतिम दिन पटौदी से 9, बादशाहपुर से 2, गुड़गांव से 7 व सोहना से 3 प्रत्याशियों ने नाम वापस लिया है।

रूठे माने, नामांकन पत्र लिया वापस

राज्य विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्रों वापस लेने के अंतिम दिन भाजपा एवं कांग्रेस से असंतुष्ट मैदान से हट गए। गुड़गांव इलाके के वर्तमान विधायक उमेश अग्रवाल को भाजपा से टिकट नहीं मिलने के विरोध में मैदान में आई उनकी पत्नी अनीता अग्रवाल ने सोमवार की सुबह नामांकन पत्र वापस ले लिया। पार्टी के नेता उन्हें मनाने के लिए कई दिन से लगे हुए थे, इन नेताओं में मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी शामिल हैं।

वहीं इसी क्षेत्र से कांग्रेस की पार्षद सीमा पाहुजा ने भी सोमवार को नामांकन पत्र वापस ले लिया। पटौदी इलाके में भाजपा के मुकेश कुमारी ने भी अपना नामांकन पत्र वापस ले लिया है। करनाल के सांसद संजय भाटिया उन्हें मनाने के लिए आए थे, वहीं कांग्रेस के पूर्व विधायक रामबीर सिंह भी मैदान से हट गए हैं।

Share